Parts of Speech in English

अंग्रेजी में कहा गया हर एक सेंटेन्स पार्ट्स ऑफ़ स्पीच (शब्द भेद) का एक बेहतरीन उदाहरण है देखिए अब तक हमने सीखा की भाषा को बोलने के लिए हमें ग्रूप ओफ़ वर्ड्ज़ (शब्दों के समूह) की आवश्यकता होती है, और अंग्रेजी में भी हिंदी की तरह ही शब्द भेद होते है जिन्हें अंग्रेजी में हम Word Class या Parts of Speech भी कहते है।

Types of Parts of Speech :

There are 8 types of Parts of speech in English Grammar.

1. Noun (संज्ञा) 2. Pronoun (सर्वनाम) 3. Adjective (विशेषण) 4. Verb (क्रिया) 5. Adverb (क्रिया विशेषण) 6. Preposition (सम्बंधसूचक अव्यय) 7. Conjunction (संयोजक) 8. Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

1) Noun (संज्ञा)

Noun की एक परिभाषा हम बचपन से पढ़ते रहे है जो कि इतनी सटीक है कि जिसे अंग्रेजी का हर टीचर आज भी Parts of Speech समझाते वक्त कहता है।

वैसे तो आपने कर्ता (Subject) किसे कहते है इसकी बहुत सी परिभाषाएँ पढ़ी होगी मगर आज हम ऐसी परिभाषा देखेंगे जिसे आप कभी नही भूल पाएँगे हम ये जानते है कि जो काम करता है उसे कर्ता (Subject) कहा जाता है। आप इसे ऐसा भी कह सकते है जो आप कभी नही भूलेंगे 


“ किसी
व्यक्ति विशेष वस्तु या स्थान के नाम को संज्ञा कहते है
A Noun is the name of a person, place or things.


जैसे
व्यक्ति के तौर पर हम ले लेते है संजय को वस्तु के तौर पर हम ले लेते है एक किताब और जगह के तौर पर हम ले लेते है इंदौर (शहर)


Ex –
 Ram, Indore, Pen, Dog


समीर
खेल रहा है
Samir is playing.

NOTE – समीर यहाँ पर किसी का नाम है अर्थात् समीर संज्ञा अर्थात् noun है


Indore
is a famous city.

Noun के भी पाँच प्रकार है।
There are 5 types of Nouns.

A. Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)
B. Proper Noun (
व्यक्ति वाचक संज्ञा)
C. Collective Noun (
समूह वाचक संज्ञा)
D. Abstract Noun (
भाव वाचक संज्ञा)
E. Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

A) Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)

वह संज्ञा जो समान प्रकार के सामान्य व्यक्ति, स्थान या वस्तु को बताती है।
(The noun which denotes a common person, place, or thing of the same kind.)

Same kind :
Person – man, woman
Animal – Dog, Cat, Elephant, Horse
Things – Laptop, Camera, Book, Table, Chair
Places – park, city, state, country, continent, tea, shop, hotel

B) Proper Noun (संज्ञा)

Proper Noun जो किसी विशेष व्यक्तिस्थान या वस्तु के नाम को दर्शाता है। इसका पहला अक्षर हमेशा capital letter में लिखा जाता है।
A noun denotes a particular person, place or thing. Its first letter is always written with a capital letter.

NOTE – जिस तरह Common Noun में हम person, animal, things, places बता रहे थे अब हमें इनके सही सही नाम बताना है, तब ऐसे noun को Proper Noun कहेंगे।

जैसे – 

Same kind :
Person –
Sanjay, Sunita
Animal –
Tommy(Dog), Kitty(Cat), Simba(Cat), Charlie
Things – Ramayana, Gita, Macbook, iPhone
Month –
January, March, August, etc.

C) Collective Noun (समूहवाचक संज्ञा)

Collective Noun किसी व्यक्ति, वस्तुओं के समूह को दर्शाता है।
A collective noun is a group that denotes a group of persons or things.

Ex –
 Crowd, Gang, Staff, Team, Army, Family, A herd of cattle.

D) Abstract Noun (भाव वाचक संज्ञा)

भाव वाचक संज्ञा एक गुण, क्रिया या अवस्था का नाम है या भाव वाचक संज्ञा उसे कहते है जिसे आप देख नहीं सकते, स्वाद नहीं ले सकते, सूंघ नही सकते, सुन नहीं सकते हैं।
An Abstract noun is the name of a quality, action, or state or an abstract noun is something which you can’t touch, can’t see, can’t taste, can’t smell, and can’t hear.

Ex – 

Quality – Courage, Bravery, Honesty, Patience, etc.
Feelings – anxiety, fear, pleasure, stress.
Moment – birthday, childhood, marriage, career, death.

E) Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

पदार्थ वाचक संज्ञा उन कच्चे तत्वों या वस्तुओं को दिए गए नाम हैं जो प्रकृति में मौजूद हैं और मानव द्वारा निर्मित नहीं किए जा सकते हैं तथा जिन्हें नापा या तोला जा सके लेकिन गिना ना जा सके।
Material nouns are names given to the raw elements or objects that exist in nature and cannot be created by a human and which can be measured or weighed but cannot be counted.

Ex – copper, silver, tea, coffee, milk, salt, calcium, plastic etc.

ये थे Noun के पाँच प्रकार अब हम सीखने जा रहे है अगला Parts of Speech जो की है।

2) Pronoun (सर्वनाम)

सर्वनाम एक शब्द है जो संज्ञा के स्थान पर उपयोग किया जाता है।
A pronoun is a word that is used in the place of a noun.

EX – I, we, you, they, he, she, it.


देखिए
Pronoun का उपयोग Noun के स्थान पर किया जाता है। Pronoun का प्रयोग तब बहुत ज़रूरी हो जाता है जब एक ही sentence में बहुत सारे Noun जाएँ आइए समझते है एक उदाहरण से।


EX – 
Sameer, Mukesh and I were playing cricket with friends.


(
इस उदाहरण में एक से ज़्यादा Noun (Sameer, Mukesh, I) है, और यह वाक्य दिखने में भी काफ़ी बड़ा है अब देखिए क्यों Pronoun क्यों ज़रूरी है। यहाँ सारे Nouns (Sameer, Mukesh, I) को एक Pronoun की मदद से कहा जा सकता है, विश्वास नही हो रहा आइए देखें  और वह Pronoun है We


Before –
Sameer, Mukesh
and I were playing cricket with friends.
After – We were playing cricket with friends.


Anita
 loves cooking food.
She loves cooking food.

Is Mayank going to the office with Aditi?
Is
he going to the office with her?

3) Adjective (विशेषण)

विशेषण एक शब्द है जो एक संज्ञा या एक सर्वनाम की विशेषता बताता है।
An adjective is a word that shows the quality of a noun or a pronoun.

Ex – Good, Bad, Honest, Brave, Young, White.


1) This flower is
beautiful.
2) She is looking gorgeous.
3) Kolkata is a large city.
4) Mayank is an Intelligent boy.
5) Akbar was a great king.

4) Verb (क्रिया)

क्रिया एक शब्द है जो हमें किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान के बारे में कुछ बताता है। यह भी बताता है कि क्या हो रहा है।
A verb is a word which tells us something about a person, place or thing. It also tells what is going on. 

EX – Go, Come, Run, Play, Speak, Teach, etc.


चूहे
ने मेरे कपड़े कुतर
दिए।
The rat 
nibbled my clothes. ( Nibble – कुतरना )


वह
बारिश में भीग गया।

He got
 drenched. ( Drench – बारिश में भीगना )

विशाल क्रिकेट खेल रहा है।
Vishal is
playing cricket. ( Play – खेलना )

भगवान को फूल चढ़ाओ।
Bestow flowers to God.
( Bestow – चढ़ाना, अर्पित करना )

वह मेरी बात नही मानता।
He disowns me.
( Disown – बात मानना )

5) Adverb (क्रिया विशेषण)

क्रिया विशेषण एक क्रिया है जो किसी क्रिया की विशेषता बताती है  
An adverb is a verb that shows the quality of a verb.

EX – Fast, slow, early, quick, terribly, badly, correctly, etc.


वह
धीरेधीरे खाता है।
He eats
slowly. ( Slowly – धीरेधीरे  )

वह तेज गति से दौड़ता है।
He runs
 fast. ( fast – तेज़ी से )

ज़ोर से मत बोलो।
Don’t speak
loudly. ( loudly – ज़ोर से )

बहुत तेज बारिश हो रही है।
It is raining heavily. ( heavily – तेज़ी से, अत्यधिक )

मैने उसे तुरंत कॉल किया।
I called her immediately. 
( immediately – तुरंत )

6) Preposition (संबंधसूचक अव्यय)

यह noun या pronoun के पहले उपयोग होता है तथा वाक्य में उपस्थित दूसरे शब्दों से इसका संबंध बताता है
A preposition is a word used before a noun or a pronoun to show its relation with other words in a sentence.

EX – in, on, of, for, at, upon, about, above, from, under, beneath, up to, off, below, beside, between, beyond, inside, into, etc.

मैं सिंगापुर में रहता हूँ।
I live
in Singapore. ( in – में )

गिलास टेबल पर है।
The glass is on the table
( on – पर )

मम्मी मुझे अपने साथ ले चलो।
Mom, please take me with
you. ( with – के साथ )

मैं तुम्हारे लिए ये करूँगा।
I will do it
for you. ( for – के लिए, के वास्ते )

मैं पहली बार संजय से 2002 में मिला था।
I first met Sanjay in 2002. 
( in – में )

7) Conjunction (संयोजक)

संयोजक एक ऐसा शब्द है जो शब्दों, वाक्यांशों, वाक्यों, मुहावरों आदि को एक साथ जोड़ता है। 
A conjunction is a word that joins words, phrases, sentences, idioms together.

Ex – So, because, but, and, or, yet, for, because, or, as, etc.

मैं जानता हूँ मेरे कहने का मतलब बिना उदाहरण के अधूरा है तो अब मैं आपको एक सरल और सटीक उदाहरण से इन संयोजक शब्दों को स्पष्ट करता हूँ
I know that the meaning is incomplete without an example, so now let me explain these connecting words with a simple and straight example.


सुनील
बाज़ार गया।

Sunil went to market.

राजन बाज़ार गया।
Rajan went to market.

अभी ये दोनो वाक्य एक ही काम को बता रहे है लेकिन बाज़ार दो अलग अलग व्यक्ति गये तो अगर हम किसी से कहेंगे तो थोड़ा अजीब लगेगा कि सुनील भी बाज़ार गया, राजन भी बाज़ार गया। क्या हो अगर इसे ऐसे कहा जाए कि सुनील और राजन बाज़ार गये। तो यहाँ कहने का मतलब ज़्यादा स्पष्ट है।
At this time these two sentences are telling the same thing, but two different people went to the market, if we tell anyone, it would be strange that Sunil also went to the market, Rajan also went to the market. What if we say it like this that Sunil and Rajan went to the market. So the meaning is more clear now.


सुनील
और राजन बाज़ार गये।

Sunil 
and Rajan went to the market.


तुम
आओ या आओ मैं तो जा रहा हूँ।

Whether you come or not, I am going.


दो
और दो चार होते है।

Two 
and two make four.


ना
तो तुम ना ही तुम्हारा भाई वहाँ गया।

Neither you nor your brother went there.


तुम
इतने चालाक नही हो जितना की वह।

You are not as shrewd as he is.


बाँटो
और राज करो।

Divide 
and rule.


जल्दी
करो कहीं ऐसा हो तुम्हारी बस छूट जाए।

Hurry up, 
lest you should miss the bus.

वह आया इसलिए में वहाँ गया।
He came 
so I went there.


खाना
खाते खाते टीवी मत देखो।
Don’t watch TV 
while eating food.


वह
जहां से आया था वहीं चले गया।

He went 
whence he had come.


तो
अब यह समझ आता है कि किन्ही भी दो अलगअलग वाक्यों, वाक्यांशों, मुहावरों आदि को जोड़ने के लिए संयोजक अर्थात् Conjunction की ज़रूरत पड़ती है।

8) Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

विस्मयादिबोधक अव्यय एक शब्द है जो कुछ चानक खुशी, दुःख, आश्चर्य आदि की भावनाओं को बताता है।
Interjection is a word that shows some sudden feelings of joy, sorrow, surprise etc.

Ex – Oh!, hurrah!, Alas!, Bravo!

आइए समझे इन सबके मतलब क्या होते है।


1) Oh! (
)- आनंद, दुःख बताने के लिए Oh! का प्रयोग किया जाता है।

2) Hurrah! (हुर्रे) – आनंद, बहुत ख़ुशी बताने के लिए Hurrah! का प्रयोग किया जाता है।

3) Alas! (अलास) –  किसी पर तरस दिखाने या दुःख बताने के लिए Alas! का प्रयोग किया जाता है।

4) Bravo! (ब्रावो) – जीत की ख़ुशी अथवा ख़ुशी बताने के लिए Bravo! का प्रयोग किया जाता है।

5) Done! (डन) – जब हम बातचीत के दौरान कहेंठीक है”, तय है, “बिलकुलतब हम Done! का प्रयोग करते है।

6) Hush (हश) – चुप! शांति! तब Hush! का प्रयोग किया जाता है। इससे व्यक्ति को कुछ करने से रोका जाता है। 

7) Thank God (थैंक गॉड) – अगर कुछ बुरा टल गया हो तब Thank God का प्रयोग किया जाता है।

8) Hell (
हेल) – क्रोध या चिड़ व्यक्त करने के लिए Hell का प्रयोग किया जाता है।

9) Aha! (
अहा) – आनंद या जीत की ख़ुशी बताने के लिए भी Aha! का प्रयोग किया जाता है।

10) Well done! (
वेल डन) – जब कहना हो शाबाश! तब Well done! का प्रयोग किया जाता है।

11) Crickey! (
क्राइकी) – आश्चर्य बताने के लिए Crickey! का प्रयोग किया जाता है।

तो यहाँ ख़त्म होते है अंग्रेजी के सभी आठ शब्द भेद अर्थात् Parts of Speech.

आपको ये विषय कैसा लगा अपने सुझाव कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखिएगा 

Join our list

Subscribe to our mailing list and get interesting stuff and updates to your email inbox.

Thank you for subscribing.

Something went wrong.

70,000+ Subscribers

Follow us on Social Media

Parts of Speech in English

अंग्रेजी में कहा गया हर एक सेंटेन्स पार्ट्स ऑफ़ स्पीच (शब्द भेद) का एक बेहतरीन उदाहरण है देखिए अब तक हमने सीखा की भाषा को बोलने के लिए हमें ग्रूप ओफ़ वर्ड्ज़ (शब्दों के समूह) की आवश्यकता होती है, और अंग्रेजी में भी हिंदी की तरह ही शब्द भेद होते है जिन्हें अंग्रेजी में हम Word Class या Parts of Speech भी कहते है।

Types of Parts of Speech :

There are 8 types of Parts of speech in English Grammar.

1. Noun (संज्ञा) 2. Pronoun (सर्वनाम) 3. Adjective (विशेषण) 4. Verb (क्रिया) 5. Adverb (क्रिया विशेषण) 6. Preposition (सम्बंधसूचक अव्यय) 7. Conjunction (संयोजक) 8. Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

1) Noun (संज्ञा)

Noun की एक परिभाषा हम बचपन से पढ़ते रहे है जो कि इतनी सटीक है कि जिसे अंग्रेजी का हर टीचर आज भी Parts of Speech समझाते वक्त कहता है।

वैसे तो आपने कर्ता (Subject) किसे कहते है इसकी बहुत सी परिभाषाएँ पढ़ी होगी मगर आज हम ऐसी परिभाषा देखेंगे जिसे आप कभी नही भूल पाएँगे हम ये जानते है कि जो काम करता है उसे कर्ता (Subject) कहा जाता है। आप इसे ऐसा भी कह सकते है जो आप कभी नही भूलेंगे 


“ किसी
व्यक्ति विशेष वस्तु या स्थान के नाम को संज्ञा कहते है
A Noun is the name of a person, place or things.


जैसे
व्यक्ति के तौर पर हम ले लेते है संजय को वस्तु के तौर पर हम ले लेते है एक किताब और जगह के तौर पर हम ले लेते है इंदौर (शहर)


Ex –
 Ram, Indore, Pen, Dog


समीर
खेल रहा है
Samir is playing.

NOTE – समीर यहाँ पर किसी का नाम है अर्थात् समीर संज्ञा अर्थात् noun है


Indore
is a famous city.

Noun के भी पाँच प्रकार है।
There are 5 types of Nouns.

A. Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)
B. Proper Noun (
व्यक्ति वाचक संज्ञा)
C. Collective Noun (
समूह वाचक संज्ञा)
D. Abstract Noun (
भाव वाचक संज्ञा)
E. Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

A) Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)

वह संज्ञा जो समान प्रकार के सामान्य व्यक्ति, स्थान या वस्तु को बताती है।
(The noun which denotes a common person, place, or thing of the same kind.)

Same kind :
Person – man, woman
Animal – Dog, Cat, Elephant, Horse
Things – Laptop, Camera, Book, Table, Chair
Places – park, city, state, country, continent, tea, shop, hotel

B) Proper Noun (संज्ञा)

Proper Noun जो किसी विशेष व्यक्तिस्थान या वस्तु के नाम को दर्शाता है। इसका पहला अक्षर हमेशा capital letter में लिखा जाता है।
A noun denotes a particular person, place or thing. Its first letter is always written with a capital letter.

NOTE – जिस तरह Common Noun में हम person, animal, things, places बता रहे थे अब हमें इनके सही सही नाम बताना है, तब ऐसे noun को Proper Noun कहेंगे।

जैसे – 

Same kind :
Person –
Sanjay, Sunita
Animal –
Tommy(Dog), Kitty(Cat), Simba(Cat), Charlie
Things – Ramayana, Gita, Macbook, iPhone
Month –
January, March, August, etc.

C) Collective Noun (समूहवाचक संज्ञा)

Collective Noun किसी व्यक्ति, वस्तुओं के समूह को दर्शाता है।
A collective noun is a group that denotes a group of persons or things.

Ex –
 Crowd, Gang, Staff, Team, Army, Family, A herd of cattle.

D) Abstract Noun (भाव वाचक संज्ञा)

भाव वाचक संज्ञा एक गुण, क्रिया या अवस्था का नाम है या भाव वाचक संज्ञा उसे कहते है जिसे आप देख नहीं सकते, स्वाद नहीं ले सकते, सूंघ नही सकते, सुन नहीं सकते हैं।
An Abstract noun is the name of a quality, action, or state or an abstract noun is something which you can’t touch, can’t see, can’t taste, can’t smell, and can’t hear.

Ex – 

Quality – Courage, Bravery, Honesty, Patience, etc.
Feelings – anxiety, fear, pleasure, stress.
Moment – birthday, childhood, marriage, career, death.

E) Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

पदार्थ वाचक संज्ञा उन कच्चे तत्वों या वस्तुओं को दिए गए नाम हैं जो प्रकृति में मौजूद हैं और मानव द्वारा निर्मित नहीं किए जा सकते हैं तथा जिन्हें नापा या तोला जा सके लेकिन गिना ना जा सके।
Material nouns are names given to the raw elements or objects that exist in nature and cannot be created by a human and which can be measured or weighed but cannot be counted.

Ex – copper, silver, tea, coffee, milk, salt, calcium, plastic etc.

ये थे Noun के पाँच प्रकार अब हम सीखने जा रहे है अगला Parts of Speech जो की है।

2) Pronoun (सर्वनाम)

सर्वनाम एक शब्द है जो संज्ञा के स्थान पर उपयोग किया जाता है।
A pronoun is a word that is used in the place of a noun.

EX – I, we, you, they, he, she, it.


देखिए
Pronoun का उपयोग Noun के स्थान पर किया जाता है। Pronoun का प्रयोग तब बहुत ज़रूरी हो जाता है जब एक ही sentence में बहुत सारे Noun जाएँ आइए समझते है एक उदाहरण से।


EX – 
Sameer, Mukesh and I were playing cricket with friends.


(
इस उदाहरण में एक से ज़्यादा Noun (Sameer, Mukesh, I) है, और यह वाक्य दिखने में भी काफ़ी बड़ा है अब देखिए क्यों Pronoun क्यों ज़रूरी है। यहाँ सारे Nouns (Sameer, Mukesh, I) को एक Pronoun की मदद से कहा जा सकता है, विश्वास नही हो रहा आइए देखें  और वह Pronoun है We


Before –
Sameer, Mukesh
and I were playing cricket with friends.
After – We were playing cricket with friends.


Anita
 loves cooking food.
She loves cooking food.

Is Mayank going to the office with Aditi?
Is
he going to the office with her?

3) Adjective (विशेषण)

विशेषण एक शब्द है जो एक संज्ञा या एक सर्वनाम की विशेषता बताता है।
An adjective is a word that shows the quality of a noun or a pronoun.

Ex – Good, Bad, Honest, Brave, Young, White.


1) This flower is
beautiful.
2) She is looking gorgeous.
3) Kolkata is a large city.
4) Mayank is an Intelligent boy.
5) Akbar was a great king.

4) Verb (क्रिया)

क्रिया एक शब्द है जो हमें किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान के बारे में कुछ बताता है। यह भी बताता है कि क्या हो रहा है।
A verb is a word which tells us something about a person, place or thing. It also tells what is going on. 

EX – Go, Come, Run, Play, Speak, Teach, etc.


चूहे
ने मेरे कपड़े कुतर
दिए।
The rat 
nibbled my clothes. ( Nibble – कुतरना )


वह
बारिश में भीग गया।

He got
 drenched. ( Drench – बारिश में भीगना )

विशाल क्रिकेट खेल रहा है।
Vishal is
playing cricket. ( Play – खेलना )

भगवान को फूल चढ़ाओ।
Bestow flowers to God.
( Bestow – चढ़ाना, अर्पित करना )

वह मेरी बात नही मानता।
He disowns me.
( Disown – बात मानना )

5) Adverb (क्रिया विशेषण)

क्रिया विशेषण एक क्रिया है जो किसी क्रिया की विशेषता बताती है  
An adverb is a verb that shows the quality of a verb.

EX – Fast, slow, early, quick, terribly, badly, correctly, etc.


वह
धीरेधीरे खाता है।
He eats
slowly. ( Slowly – धीरेधीरे  )

वह तेज गति से दौड़ता है।
He runs
 fast. ( fast – तेज़ी से )

ज़ोर से मत बोलो।
Don’t speak
loudly. ( loudly – ज़ोर से )

बहुत तेज बारिश हो रही है।
It is raining heavily. ( heavily – तेज़ी से, अत्यधिक )

मैने उसे तुरंत कॉल किया।
I called her immediately. 
( immediately – तुरंत )

6) Preposition (संबंधसूचक अव्यय)

यह noun या pronoun के पहले उपयोग होता है तथा वाक्य में उपस्थित दूसरे शब्दों से इसका संबंध बताता है
A preposition is a word used before a noun or a pronoun to show its relation with other words in a sentence.

EX – in, on, of, for, at, upon, about, above, from, under, beneath, up to, off, below, beside, between, beyond, inside, into, etc.

मैं सिंगापुर में रहता हूँ।
I live
in Singapore. ( in – में )

गिलास टेबल पर है।
The glass is on the table
( on – पर )

मम्मी मुझे अपने साथ ले चलो।
Mom, please take me with
you. ( with – के साथ )

मैं तुम्हारे लिए ये करूँगा।
I will do it
for you. ( for – के लिए, के वास्ते )

मैं पहली बार संजय से 2002 में मिला था।
I first met Sanjay in 2002. 
( in – में )

7) Conjunction (संयोजक)

संयोजक एक ऐसा शब्द है जो शब्दों, वाक्यांशों, वाक्यों, मुहावरों आदि को एक साथ जोड़ता है। 
A conjunction is a word that joins words, phrases, sentences, idioms together.

Ex – So, because, but, and, or, yet, for, because, or, as, etc.

मैं जानता हूँ मेरे कहने का मतलब बिना उदाहरण के अधूरा है तो अब मैं आपको एक सरल और सटीक उदाहरण से इन संयोजक शब्दों को स्पष्ट करता हूँ
I know that the meaning is incomplete without an example, so now let me explain these connecting words with a simple and straight example.


सुनील
बाज़ार गया।

Sunil went to market.

राजन बाज़ार गया।
Rajan went to market.

अभी ये दोनो वाक्य एक ही काम को बता रहे है लेकिन बाज़ार दो अलग अलग व्यक्ति गये तो अगर हम किसी से कहेंगे तो थोड़ा अजीब लगेगा कि सुनील भी बाज़ार गया, राजन भी बाज़ार गया। क्या हो अगर इसे ऐसे कहा जाए कि सुनील और राजन बाज़ार गये। तो यहाँ कहने का मतलब ज़्यादा स्पष्ट है।
At this time these two sentences are telling the same thing, but two different people went to the market, if we tell anyone, it would be strange that Sunil also went to the market, Rajan also went to the market. What if we say it like this that Sunil and Rajan went to the market. So the meaning is more clear now.


सुनील
और राजन बाज़ार गये।

Sunil 
and Rajan went to the market.


तुम
आओ या आओ मैं तो जा रहा हूँ।

Whether you come or not, I am going.


दो
और दो चार होते है।

Two 
and two make four.


ना
तो तुम ना ही तुम्हारा भाई वहाँ गया।

Neither you nor your brother went there.


तुम
इतने चालाक नही हो जितना की वह।

You are not as shrewd as he is.


बाँटो
और राज करो।

Divide 
and rule.


जल्दी
करो कहीं ऐसा हो तुम्हारी बस छूट जाए।

Hurry up, 
lest you should miss the bus.

वह आया इसलिए में वहाँ गया।
He came 
so I went there.


खाना
खाते खाते टीवी मत देखो।
Don’t watch TV 
while eating food.


वह
जहां से आया था वहीं चले गया।

He went 
whence he had come.


तो
अब यह समझ आता है कि किन्ही भी दो अलगअलग वाक्यों, वाक्यांशों, मुहावरों आदि को जोड़ने के लिए संयोजक अर्थात् Conjunction की ज़रूरत पड़ती है।

8) Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

विस्मयादिबोधक अव्यय एक शब्द है जो कुछ चानक खुशी, दुःख, आश्चर्य आदि की भावनाओं को बताता है।
Interjection is a word that shows some sudden feelings of joy, sorrow, surprise etc.

Ex – Oh!, hurrah!, Alas!, Bravo!

आइए समझे इन सबके मतलब क्या होते है।


1) Oh! (
)- आनंद, दुःख बताने के लिए Oh! का प्रयोग किया जाता है।

2) Hurrah! (हुर्रे) – आनंद, बहुत ख़ुशी बताने के लिए Hurrah! का प्रयोग किया जाता है।

3) Alas! (अलास) –  किसी पर तरस दिखाने या दुःख बताने के लिए Alas! का प्रयोग किया जाता है।

4) Bravo! (ब्रावो) – जीत की ख़ुशी अथवा ख़ुशी बताने के लिए Bravo! का प्रयोग किया जाता है।

5) Done! (डन) – जब हम बातचीत के दौरान कहेंठीक है”, तय है, “बिलकुलतब हम Done! का प्रयोग करते है।

6) Hush (हश) – चुप! शांति! तब Hush! का प्रयोग किया जाता है। इससे व्यक्ति को कुछ करने से रोका जाता है। 

7) Thank God (थैंक गॉड) – अगर कुछ बुरा टल गया हो तब Thank God का प्रयोग किया जाता है।

8) Hell (
हेल) – क्रोध या चिड़ व्यक्त करने के लिए Hell का प्रयोग किया जाता है।

9) Aha! (
अहा) – आनंद या जीत की ख़ुशी बताने के लिए भी Aha! का प्रयोग किया जाता है।

10) Well done! (
वेल डन) – जब कहना हो शाबाश! तब Well done! का प्रयोग किया जाता है।

11) Crickey! (
क्राइकी) – आश्चर्य बताने के लिए Crickey! का प्रयोग किया जाता है।

तो यहाँ ख़त्म होते है अंग्रेजी के सभी आठ शब्द भेद अर्थात् Parts of Speech.

आपको ये विषय कैसा लगा अपने सुझाव कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखिएगा 

Join our list

Subscribe to our mailing list and get interesting stuff and updates to your email inbox.

Thank you for subscribing.

Something went wrong.

अंग्रेजी में कहा गया हर एक सेंटेन्स पार्ट्स ऑफ़ स्पीच (शब्द भेद) का एक बेहतरीन उदाहरण है देखिए अब तक हमने सीखा की भाषा को बोलने के लिए हमें ग्रूप ओफ़ वर्ड्ज़ (शब्दों के समूह) की आवश्यकता होती है, और अंग्रेजी में भी हिंदी की तरह ही शब्द भेद होते है जिन्हें अंग्रेजी में हम Word Class या Parts of Speech भी कहते है।

Types of Parts of Speech :

There are 8 types of Parts of speech in English Grammar.

1. Noun (संज्ञा) 2. Pronoun (सर्वनाम) 3. Adjective (विशेषण) 4. Verb (क्रिया) 5. Adverb (क्रिया विशेषण) 6. Preposition (सम्बंधसूचक अव्यय) 7. Conjunction (संयोजक) 8. Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

1) Noun (संज्ञा)

Noun की एक परिभाषा हम बचपन से पढ़ते रहे है जो कि इतनी सटीक है कि जिसे अंग्रेजी का हर टीचर आज भी Parts of Speech समझाते वक्त कहता है।

वैसे तो आपने कर्ता (Subject) किसे कहते है इसकी बहुत सी परिभाषाएँ पढ़ी होगी मगर आज हम ऐसी परिभाषा देखेंगे जिसे आप कभी नही भूल पाएँगे हम ये जानते है कि जो काम करता है उसे कर्ता (Subject) कहा जाता है। आप इसे ऐसा भी कह सकते है जो आप कभी नही भूलेंगे 


“ किसी
व्यक्ति विशेष वस्तु या स्थान के नाम को संज्ञा कहते है
A Noun is the name of a person, place or things.


जैसे
व्यक्ति के तौर पर हम ले लेते है संजय को वस्तु के तौर पर हम ले लेते है एक किताब और जगह के तौर पर हम ले लेते है इंदौर (शहर)


Ex –
 Ram, Indore, Pen, Dog


समीर
खेल रहा है
Samir is playing.

NOTE – समीर यहाँ पर किसी का नाम है अर्थात् समीर संज्ञा अर्थात् noun है


Indore
is a famous city.

Noun के भी पाँच प्रकार है।
There are 5 types of Nouns.

A. Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)
B. Proper Noun (
व्यक्ति वाचक संज्ञा)
C. Collective Noun (
समूह वाचक संज्ञा)
D. Abstract Noun (
भाव वाचक संज्ञा)
E. Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

A) Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)

वह संज्ञा जो समान प्रकार के सामान्य व्यक्ति, स्थान या वस्तु को बताती है।
(The noun which denotes a common person, place, or thing of the same kind.)

Same kind :
Person – man, woman
Animal – Dog, Cat, Elephant, Horse
Things – Laptop, Camera, Book, Table, Chair
Places – park, city, state, country, continent, tea, shop, hotel

B) Proper Noun (संज्ञा)

Proper Noun जो किसी विशेष व्यक्तिस्थान या वस्तु के नाम को दर्शाता है। इसका पहला अक्षर हमेशा capital letter में लिखा जाता है।
A noun denotes a particular person, place or thing. Its first letter is always written with a capital letter.

NOTE – जिस तरह Common Noun में हम person, animal, things, places बता रहे थे अब हमें इनके सही सही नाम बताना है, तब ऐसे noun को Proper Noun कहेंगे।

जैसे – 

Same kind :
Person –
Sanjay, Sunita
Animal –
Tommy(Dog), Kitty(Cat), Simba(Cat), Charlie
Things – Ramayana, Gita, Macbook, iPhone
Month –
January, March, August, etc.

C) Collective Noun (समूहवाचक संज्ञा)

Collective Noun किसी व्यक्ति, वस्तुओं के समूह को दर्शाता है।
A collective noun is a group that denotes a group of persons or things.

Ex –
 Crowd, Gang, Staff, Team, Army, Family, A herd of cattle.

D) Abstract Noun (भाव वाचक संज्ञा)

भाव वाचक संज्ञा एक गुण, क्रिया या अवस्था का नाम है या भाव वाचक संज्ञा उसे कहते है जिसे आप देख नहीं सकते, स्वाद नहीं ले सकते, सूंघ नही सकते, सुन नहीं सकते हैं।
An Abstract noun is the name of a quality, action, or state or an abstract noun is something which you can’t touch, can’t see, can’t taste, can’t smell, and can’t hear.

Ex – 

Quality – Courage, Bravery, Honesty, Patience, etc.
Feelings – anxiety, fear, pleasure, stress.
Moment – birthday, childhood, marriage, career, death.

E) Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

पदार्थ वाचक संज्ञा उन कच्चे तत्वों या वस्तुओं को दिए गए नाम हैं जो प्रकृति में मौजूद हैं और मानव द्वारा निर्मित नहीं किए जा सकते हैं तथा जिन्हें नापा या तोला जा सके लेकिन गिना ना जा सके।
Material nouns are names given to the raw elements or objects that exist in nature and cannot be created by a human and which can be measured or weighed but cannot be counted.

Ex – copper, silver, tea, coffee, milk, salt, calcium, plastic etc.

ये थे Noun के पाँच प्रकार अब हम सीखने जा रहे है अगला Parts of Speech जो की है।

2) Pronoun (सर्वनाम)

सर्वनाम एक शब्द है जो संज्ञा के स्थान पर उपयोग किया जाता है।
A pronoun is a word that is used in the place of a noun.

EX – I, we, you, they, he, she, it.


देखिए
Pronoun का उपयोग Noun के स्थान पर किया जाता है। Pronoun का प्रयोग तब बहुत ज़रूरी हो जाता है जब एक ही sentence में बहुत सारे Noun जाएँ आइए समझते है एक उदाहरण से।


EX – 
Sameer, Mukesh and I were playing cricket with friends.


(
इस उदाहरण में एक से ज़्यादा Noun (Sameer, Mukesh, I) है, और यह वाक्य दिखने में भी काफ़ी बड़ा है अब देखिए क्यों Pronoun क्यों ज़रूरी है। यहाँ सारे Nouns (Sameer, Mukesh, I) को एक Pronoun की मदद से कहा जा सकता है, विश्वास नही हो रहा आइए देखें  और वह Pronoun है We


Before –
Sameer, Mukesh
and I were playing cricket with friends.
After – We were playing cricket with friends.


Anita
 loves cooking food.
She loves cooking food.

Is Mayank going to the office with Aditi?
Is
he going to the office with her?

3) Adjective (विशेषण)

विशेषण एक शब्द है जो एक संज्ञा या एक सर्वनाम की विशेषता बताता है।
An adjective is a word that shows the quality of a noun or a pronoun.

Ex – Good, Bad, Honest, Brave, Young, White.


1) This flower is
beautiful.
2) She is looking gorgeous.
3) Kolkata is a large city.
4) Mayank is an Intelligent boy.
5) Akbar was a great king.

4) Verb (क्रिया)

क्रिया एक शब्द है जो हमें किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान के बारे में कुछ बताता है। यह भी बताता है कि क्या हो रहा है।
A verb is a word which tells us something about a person, place or thing. It also tells what is going on. 

EX – Go, Come, Run, Play, Speak, Teach, etc.


चूहे
ने मेरे कपड़े कुतर
दिए।
The rat 
nibbled my clothes. ( Nibble – कुतरना )


वह
बारिश में भीग गया।

He got
 drenched. ( Drench – बारिश में भीगना )

विशाल क्रिकेट खेल रहा है।
Vishal is
playing cricket. ( Play – खेलना )

भगवान को फूल चढ़ाओ।
Bestow flowers to God.
( Bestow – चढ़ाना, अर्पित करना )

वह मेरी बात नही मानता।
He disowns me.
( Disown – बात मानना )

5) Adverb (क्रिया विशेषण)

क्रिया विशेषण एक क्रिया है जो किसी क्रिया की विशेषता बताती है  
An adverb is a verb that shows the quality of a verb.

EX – Fast, slow, early, quick, terribly, badly, correctly, etc.


वह
धीरेधीरे खाता है।
He eats
slowly. ( Slowly – धीरेधीरे  )

वह तेज गति से दौड़ता है।
He runs
 fast. ( fast – तेज़ी से )

ज़ोर से मत बोलो।
Don’t speak
loudly. ( loudly – ज़ोर से )

बहुत तेज बारिश हो रही है।
It is raining heavily. ( heavily – तेज़ी से, अत्यधिक )

मैने उसे तुरंत कॉल किया।
I called her immediately. 
( immediately – तुरंत )

6) Preposition (संबंधसूचक अव्यय)

यह noun या pronoun के पहले उपयोग होता है तथा वाक्य में उपस्थित दूसरे शब्दों से इसका संबंध बताता है
A preposition is a word used before a noun or a pronoun to show its relation with other words in a sentence.

EX – in, on, of, for, at, upon, about, above, from, under, beneath, up to, off, below, beside, between, beyond, inside, into, etc.

मैं सिंगापुर में रहता हूँ।
I live
in Singapore. ( in – में )

गिलास टेबल पर है।
The glass is on the table
( on – पर )

मम्मी मुझे अपने साथ ले चलो।
Mom, please take me with
you. ( with – के साथ )

मैं तुम्हारे लिए ये करूँगा।
I will do it
for you. ( for – के लिए, के वास्ते )

मैं पहली बार संजय से 2002 में मिला था।
I first met Sanjay in 2002. 
( in – में )

7) Conjunction (संयोजक)

संयोजक एक ऐसा शब्द है जो शब्दों, वाक्यांशों, वाक्यों, मुहावरों आदि को एक साथ जोड़ता है। 
A conjunction is a word that joins words, phrases, sentences, idioms together.

Ex – So, because, but, and, or, yet, for, because, or, as, etc.

मैं जानता हूँ मेरे कहने का मतलब बिना उदाहरण के अधूरा है तो अब मैं आपको एक सरल और सटीक उदाहरण से इन संयोजक शब्दों को स्पष्ट करता हूँ
I know that the meaning is incomplete without an example, so now let me explain these connecting words with a simple and straight example.


सुनील
बाज़ार गया।

Sunil went to market.

राजन बाज़ार गया।
Rajan went to market.

अभी ये दोनो वाक्य एक ही काम को बता रहे है लेकिन बाज़ार दो अलग अलग व्यक्ति गये तो अगर हम किसी से कहेंगे तो थोड़ा अजीब लगेगा कि सुनील भी बाज़ार गया, राजन भी बाज़ार गया। क्या हो अगर इसे ऐसे कहा जाए कि सुनील और राजन बाज़ार गये। तो यहाँ कहने का मतलब ज़्यादा स्पष्ट है।
At this time these two sentences are telling the same thing, but two different people went to the market, if we tell anyone, it would be strange that Sunil also went to the market, Rajan also went to the market. What if we say it like this that Sunil and Rajan went to the market. So the meaning is more clear now.


सुनील
और राजन बाज़ार गये।

Sunil 
and Rajan went to the market.


तुम
आओ या आओ मैं तो जा रहा हूँ।

Whether you come or not, I am going.


दो
और दो चार होते है।

Two 
and two make four.


ना
तो तुम ना ही तुम्हारा भाई वहाँ गया।

Neither you nor your brother went there.


तुम
इतने चालाक नही हो जितना की वह।

You are not as shrewd as he is.


बाँटो
और राज करो।

Divide 
and rule.


जल्दी
करो कहीं ऐसा हो तुम्हारी बस छूट जाए।

Hurry up, 
lest you should miss the bus.

वह आया इसलिए में वहाँ गया।
He came 
so I went there.


खाना
खाते खाते टीवी मत देखो।
Don’t watch TV 
while eating food.


वह
जहां से आया था वहीं चले गया।

He went 
whence he had come.


तो
अब यह समझ आता है कि किन्ही भी दो अलगअलग वाक्यों, वाक्यांशों, मुहावरों आदि को जोड़ने के लिए संयोजक अर्थात् Conjunction की ज़रूरत पड़ती है।

8) Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

विस्मयादिबोधक अव्यय एक शब्द है जो कुछ चानक खुशी, दुःख, आश्चर्य आदि की भावनाओं को बताता है।
Interjection is a word that shows some sudden feelings of joy, sorrow, surprise etc.

Ex – Oh!, hurrah!, Alas!, Bravo!

आइए समझे इन सबके मतलब क्या होते है।


1) Oh! (
)- आनंद, दुःख बताने के लिए Oh! का प्रयोग किया जाता है।

2) Hurrah! (हुर्रे) – आनंद, बहुत ख़ुशी बताने के लिए Hurrah! का प्रयोग किया जाता है।

3) Alas! (अलास) –  किसी पर तरस दिखाने या दुःख बताने के लिए Alas! का प्रयोग किया जाता है।

4) Bravo! (ब्रावो) – जीत की ख़ुशी अथवा ख़ुशी बताने के लिए Bravo! का प्रयोग किया जाता है।

5) Done! (डन) – जब हम बातचीत के दौरान कहेंठीक है”, तय है, “बिलकुलतब हम Done! का प्रयोग करते है।

6) Hush (हश) – चुप! शांति! तब Hush! का प्रयोग किया जाता है। इससे व्यक्ति को कुछ करने से रोका जाता है। 

7) Thank God (थैंक गॉड) – अगर कुछ बुरा टल गया हो तब Thank God का प्रयोग किया जाता है।

8) Hell (
हेल) – क्रोध या चिड़ व्यक्त करने के लिए Hell का प्रयोग किया जाता है।

9) Aha! (
अहा) – आनंद या जीत की ख़ुशी बताने के लिए भी Aha! का प्रयोग किया जाता है।

10) Well done! (
वेल डन) – जब कहना हो शाबाश! तब Well done! का प्रयोग किया जाता है।

11) Crickey! (
क्राइकी) – आश्चर्य बताने के लिए Crickey! का प्रयोग किया जाता है।

तो यहाँ ख़त्म होते है अंग्रेजी के सभी आठ शब्द भेद अर्थात् Parts of Speech.

आपको ये विषय कैसा लगा अपने सुझाव कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखिएगा 

Join our list

Subscribe to our mailing list and get interesting stuff and updates to your email inbox.

Thank you for subscribing.

Something went wrong.

70,000+ Subscribers

Follow us on Social Media

Parts of Speech in English

अंग्रेजी में कहा गया हर एक सेंटेन्स पार्ट्स ऑफ़ स्पीच (शब्द भेद) का एक बेहतरीन उदाहरण है देखिए अब तक हमने सीखा की भाषा को बोलने के लिए हमें ग्रूप ओफ़ वर्ड्ज़ (शब्दों के समूह) की आवश्यकता होती है, और अंग्रेजी में भी हिंदी की तरह ही शब्द भेद होते है जिन्हें अंग्रेजी में हम Word Class या Parts of Speech भी कहते है।

Types of Parts of Speech :

There are 8 types of Parts of speech in English Grammar.

1. Noun (संज्ञा) 2. Pronoun (सर्वनाम) 3. Adjective (विशेषण) 4. Verb (क्रिया) 5. Adverb (क्रिया विशेषण) 6. Preposition (सम्बंधसूचक अव्यय) 7. Conjunction (संयोजक) 8. Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

1) Noun (संज्ञा)

Noun की एक परिभाषा हम बचपन से पढ़ते रहे है जो कि इतनी सटीक है कि जिसे अंग्रेजी का हर टीचर आज भी Parts of Speech समझाते वक्त कहता है।

वैसे तो आपने कर्ता (Subject) किसे कहते है इसकी बहुत सी परिभाषाएँ पढ़ी होगी मगर आज हम ऐसी परिभाषा देखेंगे जिसे आप कभी नही भूल पाएँगे हम ये जानते है कि जो काम करता है उसे कर्ता (Subject) कहा जाता है। आप इसे ऐसा भी कह सकते है जो आप कभी नही भूलेंगे 


“ किसी
व्यक्ति विशेष वस्तु या स्थान के नाम को संज्ञा कहते है
A Noun is the name of a person, place or things.


जैसे
व्यक्ति के तौर पर हम ले लेते है संजय को वस्तु के तौर पर हम ले लेते है एक किताब और जगह के तौर पर हम ले लेते है इंदौर (शहर)


Ex –
 Ram, Indore, Pen, Dog


समीर
खेल रहा है
Samir is playing.

NOTE – समीर यहाँ पर किसी का नाम है अर्थात् समीर संज्ञा अर्थात् noun है


Indore
is a famous city.

Noun के भी पाँच प्रकार है।
There are 5 types of Nouns.

A. Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)
B. Proper Noun (
व्यक्ति वाचक संज्ञा)
C. Collective Noun (
समूह वाचक संज्ञा)
D. Abstract Noun (
भाव वाचक संज्ञा)
E. Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

A) Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)

वह संज्ञा जो समान प्रकार के सामान्य व्यक्ति, स्थान या वस्तु को बताती है।
(The noun which denotes a common person, place, or thing of the same kind.)

Same kind :
Person – man, woman
Animal – Dog, Cat, Elephant, Horse
Things – Laptop, Camera, Book, Table, Chair
Places – park, city, state, country, continent, tea, shop, hotel

B) Proper Noun (संज्ञा)

Proper Noun जो किसी विशेष व्यक्तिस्थान या वस्तु के नाम को दर्शाता है। इसका पहला अक्षर हमेशा capital letter में लिखा जाता है।
A noun denotes a particular person, place or thing. Its first letter is always written with a capital letter.

NOTE – जिस तरह Common Noun में हम person, animal, things, places बता रहे थे अब हमें इनके सही सही नाम बताना है, तब ऐसे noun को Proper Noun कहेंगे।

जैसे – 

Same kind :
Person –
Sanjay, Sunita
Animal –
Tommy(Dog), Kitty(Cat), Simba(Cat), Charlie
Things – Ramayana, Gita, Macbook, iPhone
Month –
January, March, August, etc.

C) Collective Noun (समूहवाचक संज्ञा)

Collective Noun किसी व्यक्ति, वस्तुओं के समूह को दर्शाता है।
A collective noun is a group that denotes a group of persons or things.

Ex –
 Crowd, Gang, Staff, Team, Army, Family, A herd of cattle.

D) Abstract Noun (भाव वाचक संज्ञा)

भाव वाचक संज्ञा एक गुण, क्रिया या अवस्था का नाम है या भाव वाचक संज्ञा उसे कहते है जिसे आप देख नहीं सकते, स्वाद नहीं ले सकते, सूंघ नही सकते, सुन नहीं सकते हैं।
An Abstract noun is the name of a quality, action, or state or an abstract noun is something which you can’t touch, can’t see, can’t taste, can’t smell, and can’t hear.

Ex – 

Quality – Courage, Bravery, Honesty, Patience, etc.
Feelings – anxiety, fear, pleasure, stress.
Moment – birthday, childhood, marriage, career, death.

E) Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

पदार्थ वाचक संज्ञा उन कच्चे तत्वों या वस्तुओं को दिए गए नाम हैं जो प्रकृति में मौजूद हैं और मानव द्वारा निर्मित नहीं किए जा सकते हैं तथा जिन्हें नापा या तोला जा सके लेकिन गिना ना जा सके।
Material nouns are names given to the raw elements or objects that exist in nature and cannot be created by a human and which can be measured or weighed but cannot be counted.

Ex – copper, silver, tea, coffee, milk, salt, calcium, plastic etc.

ये थे Noun के पाँच प्रकार अब हम सीखने जा रहे है अगला Parts of Speech जो की है।

2) Pronoun (सर्वनाम)

सर्वनाम एक शब्द है जो संज्ञा के स्थान पर उपयोग किया जाता है।
A pronoun is a word that is used in the place of a noun.

EX – I, we, you, they, he, she, it.


देखिए
Pronoun का उपयोग Noun के स्थान पर किया जाता है। Pronoun का प्रयोग तब बहुत ज़रूरी हो जाता है जब एक ही sentence में बहुत सारे Noun जाएँ आइए समझते है एक उदाहरण से।


EX – 
Sameer, Mukesh and I were playing cricket with friends.


(
इस उदाहरण में एक से ज़्यादा Noun (Sameer, Mukesh, I) है, और यह वाक्य दिखने में भी काफ़ी बड़ा है अब देखिए क्यों Pronoun क्यों ज़रूरी है। यहाँ सारे Nouns (Sameer, Mukesh, I) को एक Pronoun की मदद से कहा जा सकता है, विश्वास नही हो रहा आइए देखें  और वह Pronoun है We


Before –
Sameer, Mukesh
and I were playing cricket with friends.
After – We were playing cricket with friends.


Anita
 loves cooking food.
She loves cooking food.

Is Mayank going to the office with Aditi?
Is
he going to the office with her?

3) Adjective (विशेषण)

विशेषण एक शब्द है जो एक संज्ञा या एक सर्वनाम की विशेषता बताता है।
An adjective is a word that shows the quality of a noun or a pronoun.

Ex – Good, Bad, Honest, Brave, Young, White.


1) This flower is
beautiful.
2) She is looking gorgeous.
3) Kolkata is a large city.
4) Mayank is an Intelligent boy.
5) Akbar was a great king.

4) Verb (क्रिया)

क्रिया एक शब्द है जो हमें किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान के बारे में कुछ बताता है। यह भी बताता है कि क्या हो रहा है।
A verb is a word which tells us something about a person, place or thing. It also tells what is going on. 

EX – Go, Come, Run, Play, Speak, Teach, etc.


चूहे
ने मेरे कपड़े कुतर
दिए।
The rat 
nibbled my clothes. ( Nibble – कुतरना )


वह
बारिश में भीग गया।

He got
 drenched. ( Drench – बारिश में भीगना )

विशाल क्रिकेट खेल रहा है।
Vishal is
playing cricket. ( Play – खेलना )

भगवान को फूल चढ़ाओ।
Bestow flowers to God.
( Bestow – चढ़ाना, अर्पित करना )

वह मेरी बात नही मानता।
He disowns me.
( Disown – बात मानना )

5) Adverb (क्रिया विशेषण)

क्रिया विशेषण एक क्रिया है जो किसी क्रिया की विशेषता बताती है  
An adverb is a verb that shows the quality of a verb.

EX – Fast, slow, early, quick, terribly, badly, correctly, etc.


वह
धीरेधीरे खाता है।
He eats
slowly. ( Slowly – धीरेधीरे  )

वह तेज गति से दौड़ता है।
He runs
 fast. ( fast – तेज़ी से )

ज़ोर से मत बोलो।
Don’t speak
loudly. ( loudly – ज़ोर से )

बहुत तेज बारिश हो रही है।
It is raining heavily. ( heavily – तेज़ी से, अत्यधिक )

मैने उसे तुरंत कॉल किया।
I called her immediately. 
( immediately – तुरंत )

6) Preposition (संबंधसूचक अव्यय)

यह noun या pronoun के पहले उपयोग होता है तथा वाक्य में उपस्थित दूसरे शब्दों से इसका संबंध बताता है
A preposition is a word used before a noun or a pronoun to show its relation with other words in a sentence.

EX – in, on, of, for, at, upon, about, above, from, under, beneath, up to, off, below, beside, between, beyond, inside, into, etc.

मैं सिंगापुर में रहता हूँ।
I live
in Singapore. ( in – में )

गिलास टेबल पर है।
The glass is on the table
( on – पर )

मम्मी मुझे अपने साथ ले चलो।
Mom, please take me with
you. ( with – के साथ )

मैं तुम्हारे लिए ये करूँगा।
I will do it
for you. ( for – के लिए, के वास्ते )

मैं पहली बार संजय से 2002 में मिला था।
I first met Sanjay in 2002. 
( in – में )

7) Conjunction (संयोजक)

संयोजक एक ऐसा शब्द है जो शब्दों, वाक्यांशों, वाक्यों, मुहावरों आदि को एक साथ जोड़ता है। 
A conjunction is a word that joins words, phrases, sentences, idioms together.

Ex – So, because, but, and, or, yet, for, because, or, as, etc.

मैं जानता हूँ मेरे कहने का मतलब बिना उदाहरण के अधूरा है तो अब मैं आपको एक सरल और सटीक उदाहरण से इन संयोजक शब्दों को स्पष्ट करता हूँ
I know that the meaning is incomplete without an example, so now let me explain these connecting words with a simple and straight example.


सुनील
बाज़ार गया।

Sunil went to market.

राजन बाज़ार गया।
Rajan went to market.

अभी ये दोनो वाक्य एक ही काम को बता रहे है लेकिन बाज़ार दो अलग अलग व्यक्ति गये तो अगर हम किसी से कहेंगे तो थोड़ा अजीब लगेगा कि सुनील भी बाज़ार गया, राजन भी बाज़ार गया। क्या हो अगर इसे ऐसे कहा जाए कि सुनील और राजन बाज़ार गये। तो यहाँ कहने का मतलब ज़्यादा स्पष्ट है।
At this time these two sentences are telling the same thing, but two different people went to the market, if we tell anyone, it would be strange that Sunil also went to the market, Rajan also went to the market. What if we say it like this that Sunil and Rajan went to the market. So the meaning is more clear now.


सुनील
और राजन बाज़ार गये।

Sunil 
and Rajan went to the market.


तुम
आओ या आओ मैं तो जा रहा हूँ।

Whether you come or not, I am going.


दो
और दो चार होते है।

Two 
and two make four.


ना
तो तुम ना ही तुम्हारा भाई वहाँ गया।

Neither you nor your brother went there.


तुम
इतने चालाक नही हो जितना की वह।

You are not as shrewd as he is.


बाँटो
और राज करो।

Divide 
and rule.


जल्दी
करो कहीं ऐसा हो तुम्हारी बस छूट जाए।

Hurry up, 
lest you should miss the bus.

वह आया इसलिए में वहाँ गया।
He came 
so I went there.


खाना
खाते खाते टीवी मत देखो।
Don’t watch TV 
while eating food.


वह
जहां से आया था वहीं चले गया।

He went 
whence he had come.


तो
अब यह समझ आता है कि किन्ही भी दो अलगअलग वाक्यों, वाक्यांशों, मुहावरों आदि को जोड़ने के लिए संयोजक अर्थात् Conjunction की ज़रूरत पड़ती है।

8) Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

विस्मयादिबोधक अव्यय एक शब्द है जो कुछ चानक खुशी, दुःख, आश्चर्य आदि की भावनाओं को बताता है।
Interjection is a word that shows some sudden feelings of joy, sorrow, surprise etc.

Ex – Oh!, hurrah!, Alas!, Bravo!

आइए समझे इन सबके मतलब क्या होते है।


1) Oh! (
)- आनंद, दुःख बताने के लिए Oh! का प्रयोग किया जाता है।

2) Hurrah! (हुर्रे) – आनंद, बहुत ख़ुशी बताने के लिए Hurrah! का प्रयोग किया जाता है।

3) Alas! (अलास) –  किसी पर तरस दिखाने या दुःख बताने के लिए Alas! का प्रयोग किया जाता है।

4) Bravo! (ब्रावो) – जीत की ख़ुशी अथवा ख़ुशी बताने के लिए Bravo! का प्रयोग किया जाता है।

5) Done! (डन) – जब हम बातचीत के दौरान कहेंठीक है”, तय है, “बिलकुलतब हम Done! का प्रयोग करते है।

6) Hush (हश) – चुप! शांति! तब Hush! का प्रयोग किया जाता है। इससे व्यक्ति को कुछ करने से रोका जाता है। 

7) Thank God (थैंक गॉड) – अगर कुछ बुरा टल गया हो तब Thank God का प्रयोग किया जाता है।

8) Hell (
हेल) – क्रोध या चिड़ व्यक्त करने के लिए Hell का प्रयोग किया जाता है।

9) Aha! (
अहा) – आनंद या जीत की ख़ुशी बताने के लिए भी Aha! का प्रयोग किया जाता है।

10) Well done! (
वेल डन) – जब कहना हो शाबाश! तब Well done! का प्रयोग किया जाता है।

11) Crickey! (
क्राइकी) – आश्चर्य बताने के लिए Crickey! का प्रयोग किया जाता है।

तो यहाँ ख़त्म होते है अंग्रेजी के सभी आठ शब्द भेद अर्थात् Parts of Speech.

आपको ये विषय कैसा लगा अपने सुझाव कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखिएगा 

Join our list

Subscribe to our mailing list and get interesting stuff and updates to your email inbox.

Thank you for subscribing.

Something went wrong.

0

Shares

अंग्रेजी में कहा गया हर एक सेंटेन्स पार्ट्स ऑफ़ स्पीच (शब्द भेद) का एक बेहतरीन उदाहरण है देखिए अब तक हमने सीखा की भाषा को बोलने के लिए हमें ग्रूप ओफ़ वर्ड्ज़ (शब्दों के समूह) की आवश्यकता होती है, और अंग्रेजी में भी हिंदी की तरह ही शब्द भेद होते है जिन्हें अंग्रेजी में हम Word Class या Parts of Speech भी कहते है।

Types of Parts of Speech :

There are 8 types of Parts of speech in English Grammar.

1. Noun (संज्ञा) 2. Pronoun (सर्वनाम) 3. Adjective (विशेषण) 4. Verb (क्रिया) 5. Adverb (क्रिया विशेषण) 6. Preposition (सम्बंधसूचक अव्यय) 7. Conjunction (संयोजक) 8. Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

1) Noun (संज्ञा)

Noun की एक परिभाषा हम बचपन से पढ़ते रहे है जो कि इतनी सटीक है कि जिसे अंग्रेजी का हर टीचर आज भी Parts of Speech समझाते वक्त कहता है।

वैसे तो आपने कर्ता (Subject) किसे कहते है इसकी बहुत सी परिभाषाएँ पढ़ी होगी मगर आज हम ऐसी परिभाषा देखेंगे जिसे आप कभी नही भूल पाएँगे हम ये जानते है कि जो काम करता है उसे कर्ता (Subject) कहा जाता है। आप इसे ऐसा भी कह सकते है जो आप कभी नही भूलेंगे 


“ किसी
व्यक्ति विशेष वस्तु या स्थान के नाम को संज्ञा कहते है
A Noun is the name of a person, place or things.


जैसे
व्यक्ति के तौर पर हम ले लेते है संजय को वस्तु के तौर पर हम ले लेते है एक किताब और जगह के तौर पर हम ले लेते है इंदौर (शहर)


Ex –
 Ram, Indore, Pen, Dog


समीर
खेल रहा है
Samir is playing.

NOTE – समीर यहाँ पर किसी का नाम है अर्थात् समीर संज्ञा अर्थात् noun है


Indore
is a famous city.

Noun के भी पाँच प्रकार है।
There are 5 types of Nouns.

A. Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)
B. Proper Noun (
व्यक्ति वाचक संज्ञा)
C. Collective Noun (
समूह वाचक संज्ञा)
D. Abstract Noun (
भाव वाचक संज्ञा)
E. Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

A) Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)

वह संज्ञा जो समान प्रकार के सामान्य व्यक्ति, स्थान या वस्तु को बताती है।
(The noun which denotes a common person, place, or thing of the same kind.)

Same kind :
Person – man, woman
Animal – Dog, Cat, Elephant, Horse
Things – Laptop, Camera, Book, Table, Chair
Places – park, city, state, country, continent, tea, shop, hotel

B) Proper Noun (संज्ञा)

Proper Noun जो किसी विशेष व्यक्तिस्थान या वस्तु के नाम को दर्शाता है। इसका पहला अक्षर हमेशा capital letter में लिखा जाता है।
A noun denotes a particular person, place or thing. Its first letter is always written with a capital letter.

NOTE – जिस तरह Common Noun में हम person, animal, things, places बता रहे थे अब हमें इनके सही सही नाम बताना है, तब ऐसे noun को Proper Noun कहेंगे।

जैसे – 

Same kind :
Person –
Sanjay, Sunita
Animal –
Tommy(Dog), Kitty(Cat), Simba(Cat), Charlie
Things – Ramayana, Gita, Macbook, iPhone
Month –
January, March, August, etc.

C) Collective Noun (समूहवाचक संज्ञा)

Collective Noun किसी व्यक्ति, वस्तुओं के समूह को दर्शाता है।
A collective noun is a group that denotes a group of persons or things.

Ex –
 Crowd, Gang, Staff, Team, Army, Family, A herd of cattle.

D) Abstract Noun (भाव वाचक संज्ञा)

भाव वाचक संज्ञा एक गुण, क्रिया या अवस्था का नाम है या भाव वाचक संज्ञा उसे कहते है जिसे आप देख नहीं सकते, स्वाद नहीं ले सकते, सूंघ नही सकते, सुन नहीं सकते हैं।
An Abstract noun is the name of a quality, action, or state or an abstract noun is something which you can’t touch, can’t see, can’t taste, can’t smell, and can’t hear.

Ex – 

Quality – Courage, Bravery, Honesty, Patience, etc.
Feelings – anxiety, fear, pleasure, stress.
Moment – birthday, childhood, marriage, career, death.

E) Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

पदार्थ वाचक संज्ञा उन कच्चे तत्वों या वस्तुओं को दिए गए नाम हैं जो प्रकृति में मौजूद हैं और मानव द्वारा निर्मित नहीं किए जा सकते हैं तथा जिन्हें नापा या तोला जा सके लेकिन गिना ना जा सके।
Material nouns are names given to the raw elements or objects that exist in nature and cannot be created by a human and which can be measured or weighed but cannot be counted.

Ex – copper, silver, tea, coffee, milk, salt, calcium, plastic etc.

ये थे Noun के पाँच प्रकार अब हम सीखने जा रहे है अगला Parts of Speech जो की है।

2) Pronoun (सर्वनाम)

सर्वनाम एक शब्द है जो संज्ञा के स्थान पर उपयोग किया जाता है।
A pronoun is a word that is used in the place of a noun.

EX – I, we, you, they, he, she, it.


देखिए
Pronoun का उपयोग Noun के स्थान पर किया जाता है। Pronoun का प्रयोग तब बहुत ज़रूरी हो जाता है जब एक ही sentence में बहुत सारे Noun जाएँ आइए समझते है एक उदाहरण से।


EX – 
Sameer, Mukesh and I were playing cricket with friends.


(
इस उदाहरण में एक से ज़्यादा Noun (Sameer, Mukesh, I) है, और यह वाक्य दिखने में भी काफ़ी बड़ा है अब देखिए क्यों Pronoun क्यों ज़रूरी है। यहाँ सारे Nouns (Sameer, Mukesh, I) को एक Pronoun की मदद से कहा जा सकता है, विश्वास नही हो रहा आइए देखें  और वह Pronoun है We


Before –
Sameer, Mukesh
and I were playing cricket with friends.
After – We were playing cricket with friends.


Anita
 loves cooking food.
She loves cooking food.

Is Mayank going to the office with Aditi?
Is
he going to the office with her?

3) Adjective (विशेषण)

विशेषण एक शब्द है जो एक संज्ञा या एक सर्वनाम की विशेषता बताता है।
An adjective is a word that shows the quality of a noun or a pronoun.

Ex – Good, Bad, Honest, Brave, Young, White.


1) This flower is
beautiful.
2) She is looking gorgeous.
3) Kolkata is a large city.
4) Mayank is an Intelligent boy.
5) Akbar was a great king.

4) Verb (क्रिया)

क्रिया एक शब्द है जो हमें किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान के बारे में कुछ बताता है। यह भी बताता है कि क्या हो रहा है।
A verb is a word which tells us something about a person, place or thing. It also tells what is going on. 

EX – Go, Come, Run, Play, Speak, Teach, etc.


चूहे
ने मेरे कपड़े कुतर
दिए।
The rat 
nibbled my clothes. ( Nibble – कुतरना )


वह
बारिश में भीग गया।

He got
 drenched. ( Drench – बारिश में भीगना )

विशाल क्रिकेट खेल रहा है।
Vishal is
playing cricket. ( Play – खेलना )

भगवान को फूल चढ़ाओ।
Bestow flowers to God.
( Bestow – चढ़ाना, अर्पित करना )

वह मेरी बात नही मानता।
He disowns me.
( Disown – बात मानना )

5) Adverb (क्रिया विशेषण)

क्रिया विशेषण एक क्रिया है जो किसी क्रिया की विशेषता बताती है  
An adverb is a verb that shows the quality of a verb.

EX – Fast, slow, early, quick, terribly, badly, correctly, etc.


वह
धीरेधीरे खाता है।
He eats
slowly. ( Slowly – धीरेधीरे  )

वह तेज गति से दौड़ता है।
He runs
 fast. ( fast – तेज़ी से )

ज़ोर से मत बोलो।
Don’t speak
loudly. ( loudly – ज़ोर से )

बहुत तेज बारिश हो रही है।
It is raining heavily. ( heavily – तेज़ी से, अत्यधिक )

मैने उसे तुरंत कॉल किया।
I called her immediately. 
( immediately – तुरंत )

6) Preposition (संबंधसूचक अव्यय)

यह noun या pronoun के पहले उपयोग होता है तथा वाक्य में उपस्थित दूसरे शब्दों से इसका संबंध बताता है
A preposition is a word used before a noun or a pronoun to show its relation with other words in a sentence.

EX – in, on, of, for, at, upon, about, above, from, under, beneath, up to, off, below, beside, between, beyond, inside, into, etc.

मैं सिंगापुर में रहता हूँ।
I live
in Singapore. ( in – में )

गिलास टेबल पर है।
The glass is on the table
( on – पर )

मम्मी मुझे अपने साथ ले चलो।
Mom, please take me with
you. ( with – के साथ )

मैं तुम्हारे लिए ये करूँगा।
I will do it
for you. ( for – के लिए, के वास्ते )

मैं पहली बार संजय से 2002 में मिला था।
I first met Sanjay in 2002. 
( in – में )

7) Conjunction (संयोजक)

संयोजक एक ऐसा शब्द है जो शब्दों, वाक्यांशों, वाक्यों, मुहावरों आदि को एक साथ जोड़ता है। 
A conjunction is a word that joins words, phrases, sentences, idioms together.

Ex – So, because, but, and, or, yet, for, because, or, as, etc.

मैं जानता हूँ मेरे कहने का मतलब बिना उदाहरण के अधूरा है तो अब मैं आपको एक सरल और सटीक उदाहरण से इन संयोजक शब्दों को स्पष्ट करता हूँ
I know that the meaning is incomplete without an example, so now let me explain these connecting words with a simple and straight example.


सुनील
बाज़ार गया।

Sunil went to market.

राजन बाज़ार गया।
Rajan went to market.

अभी ये दोनो वाक्य एक ही काम को बता रहे है लेकिन बाज़ार दो अलग अलग व्यक्ति गये तो अगर हम किसी से कहेंगे तो थोड़ा अजीब लगेगा कि सुनील भी बाज़ार गया, राजन भी बाज़ार गया। क्या हो अगर इसे ऐसे कहा जाए कि सुनील और राजन बाज़ार गये। तो यहाँ कहने का मतलब ज़्यादा स्पष्ट है।
At this time these two sentences are telling the same thing, but two different people went to the market, if we tell anyone, it would be strange that Sunil also went to the market, Rajan also went to the market. What if we say it like this that Sunil and Rajan went to the market. So the meaning is more clear now.


सुनील
और राजन बाज़ार गये।

Sunil 
and Rajan went to the market.


तुम
आओ या आओ मैं तो जा रहा हूँ।

Whether you come or not, I am going.


दो
और दो चार होते है।

Two 
and two make four.


ना
तो तुम ना ही तुम्हारा भाई वहाँ गया।

Neither you nor your brother went there.


तुम
इतने चालाक नही हो जितना की वह।

You are not as shrewd as he is.


बाँटो
और राज करो।

Divide 
and rule.


जल्दी
करो कहीं ऐसा हो तुम्हारी बस छूट जाए।

Hurry up, 
lest you should miss the bus.

वह आया इसलिए में वहाँ गया।
He came 
so I went there.


खाना
खाते खाते टीवी मत देखो।
Don’t watch TV 
while eating food.


वह
जहां से आया था वहीं चले गया।

He went 
whence he had come.


तो
अब यह समझ आता है कि किन्ही भी दो अलगअलग वाक्यों, वाक्यांशों, मुहावरों आदि को जोड़ने के लिए संयोजक अर्थात् Conjunction की ज़रूरत पड़ती है।

8) Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

विस्मयादिबोधक अव्यय एक शब्द है जो कुछ चानक खुशी, दुःख, आश्चर्य आदि की भावनाओं को बताता है।
Interjection is a word that shows some sudden feelings of joy, sorrow, surprise etc.

Ex – Oh!, hurrah!, Alas!, Bravo!

आइए समझे इन सबके मतलब क्या होते है।


1) Oh! (
)- आनंद, दुःख बताने के लिए Oh! का प्रयोग किया जाता है।

2) Hurrah! (हुर्रे) – आनंद, बहुत ख़ुशी बताने के लिए Hurrah! का प्रयोग किया जाता है।

3) Alas! (अलास) –  किसी पर तरस दिखाने या दुःख बताने के लिए Alas! का प्रयोग किया जाता है।

4) Bravo! (ब्रावो) – जीत की ख़ुशी अथवा ख़ुशी बताने के लिए Bravo! का प्रयोग किया जाता है।

5) Done! (डन) – जब हम बातचीत के दौरान कहेंठीक है”, तय है, “बिलकुलतब हम Done! का प्रयोग करते है।

6) Hush (हश) – चुप! शांति! तब Hush! का प्रयोग किया जाता है। इससे व्यक्ति को कुछ करने से रोका जाता है। 

7) Thank God (थैंक गॉड) – अगर कुछ बुरा टल गया हो तब Thank God का प्रयोग किया जाता है।

8) Hell (
हेल) – क्रोध या चिड़ व्यक्त करने के लिए Hell का प्रयोग किया जाता है।

9) Aha! (
अहा) – आनंद या जीत की ख़ुशी बताने के लिए भी Aha! का प्रयोग किया जाता है।

10) Well done! (
वेल डन) – जब कहना हो शाबाश! तब Well done! का प्रयोग किया जाता है।

11) Crickey! (
क्राइकी) – आश्चर्य बताने के लिए Crickey! का प्रयोग किया जाता है।

तो यहाँ ख़त्म होते है अंग्रेजी के सभी आठ शब्द भेद अर्थात् Parts of Speech.

आपको ये विषय कैसा लगा अपने सुझाव कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखिएगा 

Join our list

Subscribe to our mailing list and get interesting stuff and updates to your email inbox.

Thank you for subscribing.

Something went wrong.

अंग्रेजी में कहा गया हर एक सेंटेन्स पार्ट्स ऑफ़ स्पीच (शब्द भेद) का एक बेहतरीन उदाहरण है देखिए अब तक हमने सीखा की भाषा को बोलने के लिए हमें ग्रूप ओफ़ वर्ड्ज़ (शब्दों के समूह) की आवश्यकता होती है, और अंग्रेजी में भी हिंदी की तरह ही शब्द भेद होते है जिन्हें अंग्रेजी में हम Word Class या Parts of Speech भी कहते है।

Types of Parts of Speech :

There are 8 types of Parts of speech in English Grammar.

1. Noun (संज्ञा) 2. Pronoun (सर्वनाम) 3. Adjective (विशेषण) 4. Verb (क्रिया) 5. Adverb (क्रिया विशेषण) 6. Preposition (सम्बंधसूचक अव्यय) 7. Conjunction (संयोजक) 8. Interjection (विस्मयादिबोधक अव्यय)

1) Noun (संज्ञा)

Noun की एक परिभाषा हम बचपन से पढ़ते रहे है जो कि इतनी सटीक है कि जिसे अंग्रेजी का हर टीचर आज भी Parts of Speech समझाते वक्त कहता है।

वैसे तो आपने कर्ता (Subject) किसे कहते है इसकी बहुत सी परिभाषाएँ पढ़ी होगी मगर आज हम ऐसी परिभाषा देखेंगे जिसे आप कभी नही भूल पाएँगे हम ये जानते है कि जो काम करता है उसे कर्ता (Subject) कहा जाता है। आप इसे ऐसा भी कह सकते है जो आप कभी नही भूलेंगे 


“ किसी
व्यक्ति विशेष वस्तु या स्थान के नाम को संज्ञा कहते है
A Noun is the name of a person, place or things.


जैसे
व्यक्ति के तौर पर हम ले लेते है संजय को वस्तु के तौर पर हम ले लेते है एक किताब और जगह के तौर पर हम ले लेते है इंदौर (शहर)


Ex –
 Ram, Indore, Pen, Dog


समीर
खेल रहा है
Samir is playing.

NOTE – समीर यहाँ पर किसी का नाम है अर्थात् समीर संज्ञा अर्थात् noun है


Indore
is a famous city.

Noun के भी पाँच प्रकार है।
There are 5 types of Nouns.

A. Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)
B. Proper Noun (
व्यक्ति वाचक संज्ञा)
C. Collective Noun (
समूह वाचक संज्ञा)
D. Abstract Noun (
भाव वाचक संज्ञा)
E. Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

A) Common Noun (जातिवाचक संज्ञा)

वह संज्ञा जो समान प्रकार के सामान्य व्यक्ति, स्थान या वस्तु को बताती है।
(The noun which denotes a common person, place, or thing of the same kind.)

Same kind :
Person – man, woman
Animal – Dog, Cat, Elephant, Horse
Things – Laptop, Camera, Book, Table, Chair
Places – park, city, state, country, continent, tea, shop, hotel

B) Proper Noun (संज्ञा)

Proper Noun जो किसी विशेष व्यक्तिस्थान या वस्तु के नाम को दर्शाता है। इसका पहला अक्षर हमेशा capital letter में लिखा जाता है।
A noun denotes a particular person, place or thing. Its first letter is always written with a capital letter.

NOTE – जिस तरह Common Noun में हम person, animal, things, places बता रहे थे अब हमें इनके सही सही नाम बताना है, तब ऐसे noun को Proper Noun कहेंगे।

जैसे – 

Same kind :
Person –
Sanjay, Sunita
Animal –
Tommy(Dog), Kitty(Cat), Simba(Cat), Charlie
Things – Ramayana, Gita, Macbook, iPhone
Month –
January, March, August, etc.

C) Collective Noun (समूहवाचक संज्ञा)

Collective Noun किसी व्यक्ति, वस्तुओं के समूह को दर्शाता है।
A collective noun is a group that denotes a group of persons or things.

Ex –
 Crowd, Gang, Staff, Team, Army, Family, A herd of cattle.

D) Abstract Noun (भाव वाचक संज्ञा)

भाव वाचक संज्ञा एक गुण, क्रिया या अवस्था का नाम है या भाव वाचक संज्ञा उसे कहते है जिसे आप देख नहीं सकते, स्वाद नहीं ले सकते, सूंघ नही सकते, सुन नहीं सकते हैं।
An Abstract noun is the name of a quality, action, or state or an abstract noun is something which you can’t touch, can’t see, can’t taste, can’t smell, and can’t hear.

Ex – 

Quality – Courage, Bravery, Honesty, Patience, etc.
Feelings – anxiety, fear, pleasure, stress.
Moment – birthday, childhood, marriage, career, death.

E) Material Noun (पदार्थ वाचक संज्ञा)

पदार्थ वाचक संज्ञा उन कच्चे तत्वों या वस्तुओं को दिए गए नाम हैं जो प्रकृति में मौजूद हैं और मानव द्वारा निर्मित नहीं किए जा सकते हैं तथा जिन्हें नापा या तोला जा सके लेकिन गिना ना जा सके।
Material nouns are names given to the raw elements or objects that exist in nature and cannot be created by a human and which can be measured or weighed but cannot be counted.

Ex – copper, silver, tea, coffee, milk, salt, calcium, plastic etc.

ये थे Noun के पाँच प्रकार अब हम सीखने जा रहे है अगला Parts of Speech जो की है।

2) Pronoun (सर्वनाम)

सर्वनाम एक शब्द है जो संज्ञा के स्थान पर उपयोग किया जाता है।
A pronoun is a word that is used in the place of a noun.

EX – I, we, you, they, he, she, it.


देखिए
Pronoun का उपयोग Noun के स्थान पर किया जाता है। Pronoun का प्रयोग तब बहुत ज़रूरी हो जाता है जब एक ही sentence में बहुत सारे Noun जाएँ आइए समझते है एक उदाहरण से।


EX – 
Sameer, Mukesh and I were playing cricket with friends.


(
इस उदाहरण में एक से ज़्यादा Noun (Sameer, Mukesh, I) है, और यह वाक्य दिखने में भी काफ़ी बड़ा है अब देखिए क्यों Pronoun क्यों ज़रूरी है। यहाँ सारे Nouns (Sameer, Mukesh, I) को एक Pronoun की मदद से कहा जा सकता है, विश्वास नही हो रहा आइए देखें  और वह Pronoun है We


Before –
Sameer, Mukesh
and I were playing cricket with friends.
After – We were playing cricket with friends.


Anita
 loves cooking food.
She loves cooking food.

Is Mayank going to the office with Aditi?
Is
he going to the office with her?

3) Adjective (विशेषण)

विशेषण एक शब्द है जो एक संज्ञा या एक सर्वनाम की विशेषता बताता है।
An adjective is a word that shows the quality of a noun or a pronoun.

Ex – Good, Bad, Honest, Brave, Young, White.


1) This flower is
beautiful.
2) She is looking gorgeous.
3) Kolkata is a large city.
4) Mayank is an Intelligent boy.
5) Akbar was a great king.

4) Verb (क्रिया)

क्रिया एक शब्द है जो हमें किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान के बारे में कुछ बताता है। यह भी बताता है कि क्या हो रहा है।
A verb is a word which tells us something about a person, place or thing. It also tells what is going on. 

EX – Go, Come, Run, Play, Speak, Teach, etc.


चूहे
ने मेरे कपड़े कुतर
दिए।
The rat 
nibbled my clothes. ( Nibble – कुतरना )


वह
बारिश में भीग गया।

He got
 drenched. ( Drench – बारिश में भीगना )

विशाल क्रिकेट खेल रहा है।
Vishal is
playing cricket. ( Play – खेलना )

भगवान को फूल चढ़ाओ।
Bestow flowers to God.
( Bestow – चढ़ाना, अर्पित करना )

वह मेरी बात नही मानता।
He disowns me.
( Disown – बात मानना )

5) Adverb (क्रिया विशेषण)

क्रिया विशेषण एक क्रिया है जो किसी क्रिया की विशेषता बताती है  
An adverb is a verb that shows the quality of a verb.

EX – Fast, slow, early, quick, terribly, badly, correctly, etc.


वह
धीरेधीरे खाता है।
He eats
slowly. ( Slowly – धीरेधीरे  )

वह तेज गति से दौड़ता है।
He runs
 fast. ( fast – तेज़ी से )

ज़ोर से मत बोलो।
Don’t speak
loudly. ( loudly – ज़ोर से )

बहुत तेज बारिश हो रही है।
It is raining heavily. ( heavily – तेज़ी से, अत्यधिक )

मैने उसे तुरंत कॉल किया।
I called her immediately. 
( immediately – तुरंत )

6) Preposition (संबंधसूचक अव्यय)

यह noun या pronoun के पहले उपयोग होता है तथा वाक्य में उपस्थित दूसरे शब्दों से इसका संबंध बताता है
A preposition is a word used before a noun or a pronoun to show its relation with other words in a sentence.

EX – in, on, of, for, at, upon, about, above, from, under, beneath, up to, off, below, beside, between, beyond, inside, into, etc.

मैं सिंगापुर में रहता हूँ।
I live
in Singapore. ( in – में )

गिलास टेबल पर है।
The glass is on the table
( on – पर )

मम्मी मुझे अपने साथ ले चलो।
Mom, please take me with
you. ( with – के साथ )

मैं तुम्हारे लिए ये करूँगा।
I will do it
for you. ( for – के लिए, के वास्ते )

मैं पहली बार संजय से 2002 में मिला था।
I first met Sanjay in 2002. 
( in – में )